Sui Dhaaga Movie Review

Sui Dhaaga Movie Review / सुई धागा मूवी रिव्यु

सुई धागा (Sui Dhaaga Movie Review) मूवी की एक्टिंग की बात करें तो मौजी दर्जी के किरदार में वरूण धवन पूरी तरह जचे हैं जबकि अनुष्का थोड़ा और बेहतर कर सकती थीं। वही सपॉर्टिंग किरदारों की बात करें तो मौजी के पिता के किरदार में रघुवीर यादव ने अपने अभिनय से जान फूंक दी है। तो वही मौजी की मां के रूप में आभा परमार ने भी बखूबी अपना रोल अदा किया है। फिल्म शरत कटारिया ने डायरेक्ट की है और वो पूरी तरह सफल नज़र आते हैं।

Sui Dhaaga Movie Review :

  • क्रिटिक रेटिंग :        3 Star
  • फ़िल्म का नाम:        सुई धागा
  • स्टार कास्ट:             अनुष्का शर्मा, वरूण धवन
  • डायरेक्टर:               शरत कटारिया
  • प्रोडूसर:                  आदित्य चोपड़ा, मनीष शर्मा
  • म्यूजिक डायरेक्टर: अनु मलिक
  • फ़िल्म टाइप:           कॉमेडी ड्रामा

एक्टिंग की बात करें तो मौजी दर्जी के किरदार में वरूण धवन पूरी तरह जचे हैं जबकि अनुष्का थोड़ा और बेहतर कर सकती थीं। वही सपॉर्टिंग किरदारों की बात करें तो मौजी के पिता के किरदार में रघुवीर यादव ने अपने अभिनय से जान फूंक दी है। तो वही मौजी की मां के रूप में आभा परमार ने भी बखूबी अपना रोल अदा किया है। फिल्म शरत कटारिया ने डायरेक्ट की है और वो पूरी तरह सफल नज़र आते हैं।

Read more : तनुश्री-नाना पाटेकर के विवाद पर सलमान ने किया रिएक्ट, बोले- ‘मुझे…

मिडिल क्लास के परिवार की कहानी है ‘सुई धागा’

मौजी (वरुण धवन) अपने नाम के अनुरूप मौजी हैं। तमाम अभावों में भी उसके मुंह से ‘सब बढ़िया’ ही निकलता है। वह अपनी पत्नी ममता (अनुष्का शर्मा) और माता-पिता के साथ रहता है। एक दुकान से वह नौकरी इसलिए छोड़ देता है क्योंकि काम के साथ-साथ उसे कुत्ता या बंदर बनाकर सेठ मजे लेता है और यह बात ममता को पसंद नहीं आती।

टेलरिंग मौजी का काम शुरू करता है। दुकान न होने पर सड़क किनारे मशीन लेकर बैठ जाता है। इस काम में उसके साथ ममता कदम मिला कर चलती है।

Sui Dhaaga Movie Review

Sui Dhaaga Movie Review

कई दृश्य दिल को छूते हैं तो कई दृश्य खूब हंसाते हैं. परिवार की नोकझोंक परदे पर अच्छी लगती है. कुछ किरदार भी इस फिल्म में कहानी के साथ अच्छे से जुड़ते हैं. मौजी यानी वरुण के कुछ पंचेस अच्छे हैं

वरुण धवन और अनुष्का शर्मा को आपने हमेशा तड़कते भड़कते किरदारों में देखा है. इस बार बदले हुवे अंदाज़ में भी वो ठीक लग रहे हैं. साथ ही फिल्म एक बात और कह रही है और वो ये कि पत्नी का सही साथ मिले तो इंसान आस्मां छू सकता है

News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे.