Secret of Restaurants foods Very testy

आखिर क्यों रेस्टोरेंट में ज्यादा भूख लगती है, जानिए क्या है वजह

आखिर रेस्टोरेंट में ऐसा क्यों होता है ?

घर से बहार घूमने निकल जाते हे या फिर टूर पर जाते हे तभी हमें तेज भूख लगती है और हम बाहर किसी रेस्टोरेंट में खाना खाने जाते हैं। तो वहां का डेकोरेशन देखकर हमें काफी अच्छा लगता है और हमारी भूख भी बढ़ जाती है । आखिर ऐसा क्यों होता है ? अगर अपने गौर से देखा तो एक बात पर जरूर ध्यान दिया होगा कि हर रेस्टोरेंट में डेकोरेशन भले ही अलग हो लेकिन वहां पर एक ही रंग की लाइट का इस्तेमाल किया जाता है।

रेस्टोरेंट में ज्यादा पीले रंग क्यों होता है ?

गौर मतलब है की ज्यादातर रेस्टोरेंट में पीले रंग की लाइट का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन क्या आपको पता है कि आखिर रेस्टोरेंट में पीले रंग की ही लाइट का इस्तेमाल क्यों किया जाता है।

इसके पीछे भी एक बहुत बड़ी वजह छिपी हुई है। जिसके बारे में बहुत ही कम लोगों को पता होगा।आज हम आपको बता दें कि पीले रंग के बारे में कहा जाता है कि यह आपकी भूख को बढ़ाता है।

Read more : क्या कभी आदमी को बच्चे का जन्म देते हुई देखा है ? आप खुद ही देख लीजिये

रेस्टोरेंट या फिर फास्ट फूड के विक्रेता जैसे की मक्डोनाल्ड ’केएफसी,बर्गर किंग जैसे कई अन्य रेस्टोरेंट भी पीले रंग का इस्तेमाल करते हैं। आपने गौर किया होगा की इन रेस्टोरेंट के बैनर आदि में इन पीले और लाल रंगों का इस्तेमाल किया जाता हैं। जिसको देखकर आपके मुँह में पानी आ जाये और ये दो कलर सबसे ज्यादा अट्रैक्शन भी करते है ।

ऐसा इसलिए हैं क्योंकि रिसर्च से यह बात पता चली हैं की लाल और पीला रंग भूख को बढ़ा देते हैं। इसलिए इन कंपनियों ने लाल और पीले रंग का इस्तेमाल अपने रेस्टोरेंट, विज्ञापनों आदि में ज्यादा किया हैं।

Secret of Restaurants foods Very testy

Secret of Restaurants foods Very testy

निष्णातो का यह भी कहना हैं की इस रंग को देखने से आपको भूख लगने लगती हैं। दूसरी ओर नीला रंग ऐसा रंग हैं जिसे देखने पर आपकी भूख कम होने लगती हैं। इसलिए ज्यादातर रेस्टोरेंट में पीले रंग की लाइट का प्रयोग किया जाता है।हमारे निष्णातो का यह भी कहना हैं कि पीले रंग को देखने के बाद हमारा मस्तिष्क सक्रिय हो जाता है और भूख लगने का सिग्नल भेजने लगता है।

जिससे हमें ज्यादा खाना खाने की इच्छा होती है और हम ज्यादा खाना ऑर्डर कर देते हैं, भले ही वह बाद में हम न खा पाएं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे.