women needs for a men

लड़कियां तरस रही हे लड़को के लिये, आप भी देखिये..

बता दे की इस गांव में करीब 600 महिलाए हैं जो की अविवाहित पुरुष की तलाश में हैं लेकिन इनकी ये तलाश सधुरी ही रह जाती हैं

ब्राजील के छोटा-सा गांव :

ब्राजील के इस कस्बे की कहानी ग्रीक की मशहूर कहानियों जैसी है, जहां पहाड़ियों के बीच एक छोटा-सा गांव “Noiva do Cordeiro” है

यहां रहने वाली खूबसूरत महिलाओं की एक अदद प्यार की तलाश पूरी नहीं हो रही। करीब-करीब यही सच्चाई ब्राजील के इस नोइवा दो कोरडेएरो कस्बे की भी है | यहां के पुरुष काम के लिए शहरों में रह रहे हैं, जबकि पूरे कस्बे की जिम्मेदारी महिलाओं के कंधों पर है।

इनमें से ज्यादातर रिश्ते में भाई लगते हैं। कस्बे में रहने वाली लड़कियों का कहना है कि वे सभी प्यार और शादी का सपना देखती हैं, लेकिन यह कस्बा नहीं छोड़ना चाहती हैं। वे शादी के बाद भी यहीं रहना चाहती हैं। वे चाहती हैं कि शादी के बाद लड़का उनके कस्बे में आकर वहीं के नियम-कायदों को मानते हुए रहे |

कस्बे की 600 महिलाओं में ज्यादातर की उम्र 20 से 35 साल के बीच है। यहां रहने वाली नेल्मा फर्नांडिस के मुताबिक, कस्बे में शादीशुदा मर्द हैं या फिर कोई रिश्तेदार.

Read more : देवर के साथ – भाभी ने सेक्स किया – Desi Bhabhi Sex

women needs for a men

women needs for a men

बता दे की यहाँ पर कुंवारे लड़के ना मिलने का ये आलम हैं की यहाँ की लड़किया को जिंदगी भर कुंवारी ही रहना पड़ जाता हैं और पूरी जिंदगी बिना शादी किये बिताती हैं ।

हालांकि, वो इसके लिए कस्बा नहीं छोड़ना चाहती हैं क्‍योंकि वो शादी के बाद भी यहीं रहना चाहती हैं। यहां महिलाओं की आबादी करीब 600 है जिनमें से 300 से ज्यादा कुवारी लड़कियों की शादी नहीं हो पाई है।

बताया जाता है कि इस कस्बे की पहचान मजबूत महिला समुदाय की वजह से है। इसकी नींव मारिया सेनहोरिनहा डी लीमा ने रखी थी, जिन्हें कुछ वजहों से 1891 में अपने चर्च और घर से निकाल दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे.