Mukesh Ambani गणपति बप्पा के आशीर्वाद लेने जाते है यहाँ

85 साल से अंबानी परिवार, गणपति बप्पा के आशीर्वाद लेने जाते है यहाँ

विनायक (Ganesh Chaturthi) के तरह-तरह के रूप देखने को मिल रहे हैं लेकिन आज हम आपको गणेश की सवारी एक छोटा-सा चूहा कैसे बना वो आज बताने वाले है |गणपति देव जिसको विध्नहर्ता कहते है क्योंकी वो सारे हमारे दुख दूर करते है। हर घर के मंदिर सिर्फ गणेश जी के ही रंग में रंग गए हैं. गणपति के भजन और गानों में भक्त नाच गा रहे हैं.

अंबानी परिवार लाल बाग के राजा के दर्शन के लिए हर साल आता है. पिछले साल भी मुकेश अंबानी अपने पूरे परिवार के साथ पहुंचे थे. यही नहीं बच्चन परिवार भी यहां हर साल दर्शन के लिए आता है

लाल बाग के राजा :

लाल बाग के राजा को बड़े ही धूमधाम से स्वागत किया जाता है. हर साल अलग-अलग तरह से उनको सजाया जाता है. इस बार वो सोने के मुकुट में नजर आ रहे हैं और शान से बैठे दिख रहे हैं

मुंबई में 1934 से लाल बाग के राजा की विशाल प्रतिमा स्थापित की जाती है. लाल बाग इलाके में इसकी स्थापना होती है. इस बार भी बड़े ही धूम-धाम से लाल बाग के राजा की स्थापना की गई.

Mukesh Ambani Family, गणपति बप्पा के आशीर्वाद लेने जाते है यहाँ

Mukesh Ambani Family, गणपति बप्पा के आशीर्वाद लेने जाते है यहाँ

इस बार भी लाल बाग के राजा को बड़े ही खूबसूरत तरह से सजाया गया है. सोने के मुकुट के साथ वो शान से बैठे नजर आ रहे हैं. लाल बाग के राजा के दर्शन के लिए अंबानी परिवार भी लाइन लगाता है.

Read more : क्यों भगवान गणेश के पास एक छोटा-सा चूहा

कैसे शरू हुआ गणेश का त्यौहार :

बाल गंगाधर तिलक ने गणेश उत्सव की शुरुआत की थी. जब भारत अंग्रेजों की गुलामी से आजाद होने के लिए संघर्ष कर रहा था. उस दौर में सभी भारतीयों को एक साथ इकट्ठा करने के लिए गणेश उत्सव शुरू किया गया था. उस समय पूरे देश में बड़े-बड़े पंडाल बनाए जाते थे और स्वतंत्रता संग्राम के लिए चर्चा किया करते थे.

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे.