Emergency treatment of a snake bite


सांप के जहर को 5 मिनट में करे दूर…

अकेले हमारे देश में ही हर साल 2.5 लाख लोग सर्पदंश का शिकार होते हैं। करीब 46 हजार मौतें इसी कारण होती हैं।

यहां सांप काटे की घटनाएं आम हैं, लेकिन उनसे हुर्इ मौतों की वजह है टार्इम पर उचित इलाज का अभाव। कहने को ‘रुसेल वाइपर’; ऐसा सांप जो 5 मिनट में आदमी की जान ले सकता है, से बचाव तभी मुमकिन है जब तुरंत एंटीडोट दे दिया जाए

सांप अचानक सामने आने पर या सांप पैरों से दबने पर या फिर अन्य तरह भयभीय होने पर जीवन रक्षा हेतु सांप व्यक्ति को काट लेता है। जिसे सर्पदंश भी कहा जाता है। इंसान से हर जीव भयभीत होता है। जब कभी सांप दिखे उसे छेड़े नहीं और ना ही नुकसान पहुंचाने की सोचें। दूर से अलग हट जायें। सांप के काटने पर तुरन्त प्राथमिक चिकित्सा हेतु अस्पताल ले जायें।

ऐसे करें जहरीले सांप की पहचान

  • आपने सांप देखा है? दो ऊपरी दांत जहरीले होते हैं। यदि सांप जहरीला है तो उसके ये दांत देख लें।
  •  जहां से सांप ने काटा है और उस जगह पर दो ही निशान ज्यादा दिख रहे हों तो समझिए सांप बहुत विषैला था। चार-पांच निशान दिखें तो उतने जहरीले ने नहीं काटा।
  • सांप के निचले भाग की खाल से भी सांप को पहचानने में मदद मिलती है। ज़हरीले सांपों में शल्क एक तरफ से दूसरी तरफ बिना टूटे हुए फैले होते हैं। बिना ज़हर वाले सांपों में ये शल्क बीच में विभाजित होते हैं।

सांप के काटने पर क्या करें ?

अलग-अलग सांप के काटने पर बिना देरी करे व्यक्ति को प्राथमिक उपचार के लिए तुरन्त नजदीकी अस्पताल ले जायें | अलग-अलग सांपों में जहर की मात्रा भिन्न होती है। सांप के काटने पर जहर नाकारे नहीं।

आयुर्वेद के अनुसार समय रहते इस पौधे का इस्तेमाल करके व्यक्ति को सांप के जहर से 5 मिनट के भीतर बचाया जा सकता है। हम आप को जिस पौधे के बारे में बताने जा रहे हैं उश पौधे का नाम ककोड़ा है। आप को यह सुनकर यकीन नहीं होगा। लेकिन ककोड़ा का पौधा बहुत ही गुणकारी होता है।आपको बता दें कि ककोड़ा के पौधा से कई सारी औषधियां बनाई जाती है।

Red more : तुलसी के पौधे के साथ भूलकर भी ना करें ये काम, झेलनी पड़ सकती है कंगाली

कई जहर को बेअसर करने वाले इस जादुई पौधे का नाम ककोड़ा है। इसके अलावा इसे कंटोला और कट्रोल नाम से भी पुकारा जाता है। ये पौधा ज्यादातर गर्म और नम जगह पर बाड़ों में होता है।

कहा जाता है कि इस पौधे को हर तरह के जहर को खत्म करने की शक्ति होती है। इसका इस्तेमाल करते ही कुछ मिनटों के भीतर हर जहरीला जहर उतर जाता है। आइए जानते हैं जहर उतारने के लिए कैसे करना है इसका इस्तेमाल

Emergency treatment of a snake bite
Emergency treatment of a snake bite

किसी व्यक्ति को सांप काट लेने पर उसे क कोडे़ का पाउडर खिलाने पर उसका जहर 5 से 10 मिनट में खत्म हो जाएगा।आयुर्वेद रिसर्च के मुताबिक अगर किसी व्यक्ति को काला सांप ने काट लिया है तो इसे खाने के पश्चात उसका जहर खत्म हो सकता है।

सबसे पहले ककोड़ा की जड़ को खोद कर सुखा लें। ककोड़े की इस जड़ के बकरे के पेशाब में घिस कर लगाने से कितनी भी पुरानी गांठ , महिलायों के साइन की गांठ सिर्फ पांच दिनों में ही ठीक हो जाती है।

सांप काटने पर प्राथमिक उपचार

सांप के काटने पर शरीर में होने वाले बदलाव :
  • नींद आना
  • सांस लेने दिक्कत
  • अचानक तेज सिर दर्द होना
  • आंखें लाल होना
  • दिल में दर्द होना
  • शरीर में सूजन जलन
  • छाती में तीब्र जलन
  • शरीर पर ठंड़ापन महसूस होना
  • मसूड़ों से रक्त आना
  • रक्त संचार धीमा हो जाना
  • शरीर धीरे-धीरे जकड़ जाना
समय पर दवा लेना जरूरी :

अगर डॉक्टर से ठीक से बात नहीं कर पाए हैं, तो दवा लेने से पहले पैकेट में मौजूद पर्ची को ठीक से पढ़ लें. अगर खाने से पहले दवा लेने के निर्देश दिए गए हैं, तो दवा लेने के आधे से एक घंटे बाद ही खाना खाएं. अगर खाने के दौरान कहा गया है, तो खाना शुरू करने से ठीक पहले दवा ले सकते हैं. और अगर खाने के बाद के निर्देश हैं तो खाना पचने का इंतजार ना करें, फौरन दवा ले लें.

कुछ दवाएं खाली पेट लेनी होती हैं. इन्हें या तो सुबह उठते ही ले लें, या फिर अगर ऐसा करना भूल जाएं तो ध्यान रखें कि दवा लेने के दो घंटा पहले और बाद में कुछ भी खाया ना जाए. इसकी वजह यह है कि खाना दवा की शरीर में घुलने की प्रक्रिया को तेज या धीमा कर सकता है. इसीलिए सही समय पर ली गयी दवा जल्दी असर दिखाएगी.

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे.


Like it? Share with your friends!

1.8k SHARES
1.8k SHARES

log in

reset password

Back to
log in